JagranMP
JagranMP ePaper
www.jagranmp.com :: 24 October, 2017
खेल
खेल जगत
धोनी पर भड़का कर्नाटक हाई कोर्ट
12 August 2015
बेंगलूर : कर्नाटक हाई कोर्ट ने विज्ञापन को लेकर क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की आलोचना की है। कहा है कि सेलेब्रिटी सिर्फ पैसों के लिए विज्ञापन करार करते हैं और उसके असर के बारे में नहीं सोचते हैं। धोनी के खिलाफ हिंदू देवता की कथित तौर पर खराब छवि पेश करने वाले एक विज्ञापन को लेकर केस दर्ज कराया गया था। उसके खिलाफ धोनी ने हाई कोर्ट में अपील की है। न्यायमूर्ति एएन वेणुगोपाल गौड़ा ने मौखिक टिप्पणी करते हुए कहा- एक सेलिब्रिटी तथा धोनी जैसे क्रिकेटर को लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होने की बात मालूम होनी चाहिए। उन्हें ऐसे विज्ञापनों का करार करते समय उसका परिणाम मालूम होना चाहिए। इस मामले में शिकायत करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता जयकुमार हिरेमथ ने आरोप लगाया है कि धोनी एक बिजनेस मैगजीन के आवरण पृष्ठ पर भगवान विष्णु के रूप में विभिन्न वस्तुओं के साथ ही अपने हाथ में एक जूता लिए भी दिखते हैं।
 सुनवाई के दौरान जस्टिस गौड़ा ने कहा- ये सेलिब्रिटी बगैर जिम्मेदारी के विज्ञापन करार करते हैं। उनका मकसद सिर्फ आसान पैसा कमाना होता है, बगैर यह विचार किए कि उससे क्या परेशानियां पैदा हो सकती हैं। लेकिन धोनी के वकील ने अभियोजन की दलीलों पर आपत्ति जताते हुए कहा कि उनके मुवक्किल ने उसके लिए कोई पैसा नहीं लिया है। इस पर जस्टिस गौड़ा ने धोनी को इस बाबद हलफनामा देने को कहा कि उन्होंने मैगजीन के आवरण पृष्ठ पर विज्ञापन के लिए कोई पैसा नहीं लिया है। मामले की अगली सुनवाई 17 अगस्त को होगी। इसके पहले हिरेमथ की शिकायत का संज्ञान लेते हुए छठे अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट (एसीएमएम) ने आईपीसी की धारा 295 (किसी वर्ग की धार्मिक भावना को अपमानित करना) तथा 34 के तहत केस दर्ज किया था। बाद में एसीएमएम ने धोनी को समन जारी कर कोर्ट में पेश होने को कहा। लेकिन धोनी कोर्ट में पेश होने के बजाय अदालती निर्देश के खिलाफ हाई कोर्ट चले गए।

12-08-2015 सानिया का कटा चालान
12-08-2015 महाराष्ट्र में नहीं होगा विश्वकप में पाकिस्तान का कोई मैच
12-08-2015 धोनी पर भड़का कर्नाटक हाई कोर्ट
12-08-2015 श्रीलंका में आज से होगा कोहली का टेस्ट
12-08-2015 रोहित शर्मा बनेंगे अर्जुन